उत्तराखंड

कोरोना से बचाने को अभिभावकों की अहम भूमिका : डॉ विशाल कौशिक

देहरादून। कोरोनावायरस की तीसरी लहर ने पूरे देश  को पूरी तरह अपने आगोश में जकड़ रखा है। दिन प्रतिदिन संक्रमण का खतरा बना हुआ है। कोरोनावायरस से बुजुर्ग युवा, बच्चे संक्रमित हो रहे हैं। किस तरह से बच्चों को इस संक्रमण से बचाया जाए। इसके लिए दून मेडिकल कॉलेज के बाल रोग विभाग के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ विशाल कौशिक ने एक विस्तृत अपील जारी की है। कहा कि सबसे पहले बच्चों को साफ सफाई के बारे में बताएं। उनके कमरों को बिल्कुल साफ रखें। बच्चों को बार बार हाथ धोने के लिए कहे। बच्चों के स्वास्थ्य पर नजर बनाए रखें। यदि जुकाम बुखार कुछ भी लक्षण दिखें तो डॉक्टरी सलाह जरूर लें।
बच्चों को ठंडी चीजें बिल्कुल ना दें जैसे आइसक्रीम कोल्ड ड्रिंक और चॉकलेट। कोविड-19 लक्षण जैसे पेट दर्द उल्टी दस्त यदि बच्चों को हो रहे हो तो तुरंत डॉक्टर से परामर्श करें। बच्चों को योगा या कोई भी व्यायाम जरूर कराएं जिससे उनकी इम्युनिटी बढ़ेगी। बच्चों को खाने में हेल्दी चीजें दें जैसे हरी सब्जी ताजे फल जरूर दें। सैनिटाइजर के बदले साबुन से बच्चों के हाथ धोएं बच्चों को बताएं कि बार-बार मुंह पर हाथ न लगाएं और मास्क कैसे पहनना है उनको जरूर सिखाए। परिवार का कोई भी सदस्य घर के बाहर से जब भी घर में आए तो बच्चों को न मिले पहले सैनिटाइज करें खुद को फिर बच्चों से मिले। ऑनलाइन क्लास में ध्यान रखे कि बच्चा मानसिक रूप से बीमार न हो जाए। उनको मानसिक रूप से फिट रखे। दून अस्पताल में इस वक्त 40 मरीज भर्ती है। 150 लोगों ने रविवार को जांच कराई। 50 लोगों को टीके लगाए गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *