भारतीय सेना के सैनिक इस साल गणतंत्र दिवस की परेड में नई वर्दी पहनकर करेंगे मार्च

भारतीय सेना अब एक नई वर्दी के साथ और भी ज्यादा हाई जोश में दिखाई देगी। भारतीय सेना ने शनिवार को सेना दिवस के अवसर पर परेड में अपनी नई लड़ाकू वर्दी का अनावरण किया है। सेना के जवानों के लिए नई लड़ाकू वर्दी का उद्देश्य अधिक आराम और स्थिरता प्रदान करना है। पहली बार सेना दिवस परेड में इस नई वर्दी की झलक देखी गई।

सैनिक इस साल गणतंत्र दिवस परेड के दौरान भी यही वर्दी पहनकर मार्च करेंगे। नई वर्दी अमेरिकी सेना के जवानों की तरह डिजिटल पैटर्न की है। भारतीय सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि बदली हुई वर्दी का पैटर्न अपनी पिछली वर्दी से बेहतर है। दिलचस्प बात यह है कि नई लड़ाकू वर्दी में टक-इन ड्रेस नहीं है और अंदर एक टी-शर्ट होगी। पैटर्न एक डिजिटल और एक पिक्सेलयुक्त डिजाइन की तरह है। प्राप्त जानकारी के अनुसार इसे आराम के स्तर को ध्यान में रखते हुए डिजाइन किया गया है। पहले जंगलों और रेतीले इलाकों में लड़ाई के लिए सैनिकों की वर्दी अलग हुआ करती थी, लेकिन हर जगह के लिए उपयुक्त है।

आपरेशन के दौरान सैनिकों के लिए ज्यादा सुविधाजनक है। सूत्रों ने बताया कि नई वर्दी में डिजिटल कैमोफ्लाज पैटर्न होगा, जो खासतौर से बल के लिए ही होगा। इनका कपड़ा हल्क,लेकिन मजबूत होगा और जल्दी सूखेगा। इसके चलते यह आपरेशन के दौरान सैनिकों के लिए ज्यादा सुविधाजनक होगा। इसको NIFT के सहयोग से किया गया डिजाइन नई लड़ाकू वर्दी को राष्ट्रीय फैशन प्रौद्योगिकी संस्थान (NIFT) के सहयोग से डिजाइन किया गया है। छात्रों और प्रोफेसरों की आठ सदस्यीय टीम ने नई वर्दी के डिजाइन पर काम किया है। निफ्ट की टीम ने इसे बनाने से पहले चार अलग-अलग फैब्रिक, आठ अलग-अलग डिजाइन और लगभग 15 पैटर्न का अध्ययन किया।

नई वर्दी में रंगों का मिश्रण है,जिसमें जैतून के हरे और मिट्टी के रंग शामिल हैं, विभिन्न इलाकों और सैनिकों की तैनाती के क्षेत्रों के साथ-साथ गरम मौसम की स्थिति को ध्यान में रखते हुए, नई लड़ाकू वर्दी ने अलग-अलग इलाकों के लिए अलग-अलग वर्दी रखने की आवश्यकता को समाप्त कर दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *